प्लांटर फेशिआइटिस - Plantar Fasciitis Meaning in Hindi

कोई भी चीज सामान्य दैनिक जीवन को इतना बाधित नहीं कर सकता, जितना कि दर्द करता है। इस दर्द के कारण हमें चलने फिरने में और रोज का दैनिक कार्य करने में दिक्कत महसूस होती है। यह दर्द आपको शरीर के किसी भी अंग में हो सकता है। आज हम एड़ी में होने वाले एक ऐसे ही दर्द की बात करेंगे।


आपके पैरों के नीचे तलवे में सूजन हो सकती है जिसके कारण ये दर्द हो सकता है। इस ब्लॉग में, हम प्लांटर फेशिआइटिस के बारे में जानेंगे और देखेंगे की ये किस कारण से होता है और इससे ठीक कैसे करते है?

प्लांटर फेशिआइटिस क्या होता है? - What is Plantar Fasciitis in Hindi

यह एड़ी के दर्द का सबसे आम कारण है। हमारी एड़ी में टिश्यू का एक मजबूत बैंड होता है जो एड़ी की हड्डी से शुरू होता है और पैर की नोक तक जाता है, जिसे प्लांटर फेशिआइटिस के रूप में जाना जाता है। जब आप अपने एड़ी पर बहुत अधिक दबाव डालते हैं और आपकी फेस्या अपनी सामान्य लंबाई से अधिक खिंच जाती है, तो कुछ संभावना है कि आपके प्लांटर फेस्या को नुकसान पहुँचा होगा।


प्लांटर फेशिआइटिस की परेशानी का कारण अभी भी स्पष्ट नहीं है। 2003 के एक अध्ययन ने सुझाव दिया कि इस स्थिति में पैर के नीचे के तलवे में सूजन शामिल हो सकती है। क्योंकि फेशिआइटिस का अर्थ है "फेस्या की सूजन"।

प्लांटर फेशिआइटिस के लक्षण क्या हैं? - What are the symptoms of Plantar Fasciitis in Hindi

  • फेशिआइटिस वाले लोगों की प्रमुख शिकायत एड़ी के नीचे या कभी-कभी मध्य-पैर के निचले हिस्से में होती है।
  • यह आमतौर पर सिर्फ एक पैर को प्रभावित करता है, लेकिन एक पैर में दर्द होने पर जब आप दूसरे पैर के सहारे चलते हैं तो कुछ संभावना है आपको दूसरे पैर में भी प्लांटर फसिटिस हो सकता है।
  • फेशिआइटिस से होने वाला दर्द समय के साथ धीरे-धीरे विकसित होता है।
  • कुछ लोगों को पैर के निचले हिस्से में, एड़ी से बाहर की ओर, जलन या दर्द महसूस होता है।
  • यदि आप थोड़ी अधिक देर तक बैठे या लेटे रहते हैं या आप बिस्तर से अपना पहला कदम उठाते हैं, तो आपको ज्यादा तेज दर्द होता है।
  • एड़ी में अकड़न के कारण सीढ़ियां चढ़ना भी बहुत मुश्किल हो सकता है।
  • लंबे समय तक चलने के बाद, जलन या सूजन बढ़ सकती है।
  • प्लांटर फेशिआइटिस से पीड़ित लोगों को आमतौर पर चलते समय दर्द का कम पता लगता है पर रुकने के बाद तेज दर्द का अनुभव होता है।

डॉ. डी.के. दास (Dr. D.K Das) दिल्ली में एक वरिष्ठ आर्थोपेडिक सर्जन हैं जो हड्डियों और जोड़ों से संबंधित बिमारियों का निदान और इलाज करते हैं। वह आर्थोपेडिक्स से संबंधित विभिन्न स्थितियों का इलाज करते है। यदि आप अपनी एड़ी के निचले हिस्से में दर्द का अनुभव कर रहे हैं, तो आपको तुरंत अपनी जांच या इलाज करवाना चाहिए।

प्लांटर फेशिआइटिस का क्या कारण है? - what are the causes of Plantar Fasciitis in Hindi

  • कुछ समय पहले, डॉक्टरों का मानना था कि एड़ी में हील स्पर के कारण लोगों में दर्द होता है, लेकिन ऐसा नहीं है।
  • प्लांटर फेशिआइटिस लिगामेंट के अत्यधिक खिंचाव या अति प्रयोग के कारण विकसित होता है, हालांकि फेसिया में छोटी सी भी चोट या खरोंच दर्द का कारण बन सकती है।
  • 40 से 70 वर्ष की आयु के बीच पुरुषों और महिलाओं में फेशिआइटिस विकसित होने का सबसे अधिक जोखिम होता है।
  • यह पुरुषों की तुलना में महिलाओं में होने की सम्भावना ज्यादि होती है।
  • गर्भवती महिलाएं अक्सर प्लांटर फेशिआइटिस अनुभव करती हैं, खासकर के गर्भावस्था के 6 महीने बाद।

प्लांटर फेशिआइटिस होने की आशंका किसको ज्यादि होती है? - Who are at higher risk of Plantar Fasciitis in Hindi?

आपको प्लांटर फेशिआइटिस होने का अधिक खतरा है यदि आप:

  • अधिक वजन वाले हैं या मोटापे से ग्रस्त हैं।
  • आप लम्बी रेस में दौड़ते है।
  • एक ऐसी नौकरी करते है जहाँ आप अक्सर अपने पैरों पर होते हैं, जैसे किसी कारखाने में काम करते हो या होटल में खाना सर्व करते हो।
  • पैर की कोई समस्याएं हैं, जैसे हाई आर्च या फ्लैट फ़ीट।
  • अक्सर खराब आर्च सपोर्ट वाले जूते पहनते हैं।

प्लांटर फेशिआइटिस का इलाज कैसे किया जाता है? - Plantar Fasciitis Treatment in Hindi

आराम, आइसिंग, ब्रेसिज़ और एंटी-इंफ्लेमेटरी दवाओं से अक्सर प्लांटर फेशिआइटिस का इलाज किया जाता है। यदि वे दर्द को कम नहीं करते हैं, तो लिगामेंट के क्षतिग्रस्त हिस्से में सीधे इंजेक्शन मदद कर सकता है। कई लोगों को सर्जरी की भी जरूरत पड़ सकती है अगर दर्द 6 महीने या उससे अधिक तक रहा तो।


शारीरिक चिकित्सा (Physiotherapy)

प्लांटर फेशिआइटिस के उपचार का एक महत्वपूर्ण हिस्सा चिकित्सा है। यह आपके प्लांटर फेस्या को फैलाने में मदद कर सकता है। एक चिकित्सक आपको अपने निचले पैर की मांसपेशियों को मजबूत करने के लिए व्यायाम बता सकता है, जिससे आपको चलने में मदद मिलती है और आपके पैरो के नीचे के तलवे पर काम के भार का बोझ कम होता है।


खिंचाव वाले व्यायाम (Stretching Excersises)

कुछ खिंचाव से राहत मिल सकती है और यहां तक कि प्लांटर फेशिआइटिस को भी रोका जा सकता है। आपके पैरो और तलवे के मांसपेशियों को खींचने से आपकी मांसपेशियों को ढीला करने और एड़ी के दर्द को कम करने में मदद मिलती है।


दर्द को वापस आने से रोकने के लिए आपको रोज कुछ घंटे व्यायाम करना चाहिए। इससे आपको बीमारी होने की संभावना कम रहेगी। अपने वर्कआउट को शुरू करने से पहले स्ट्रेच करना भी याद रखें।


ब्रेसिज़ और स्प्लिंट्स (Brasses & Splints)

स्प्लिंट्स एक और उपचार है जो पैर के आर्च को फैलाने में मदद कर सकता है। स्प्लिंट्स एक प्रकार का ब्रेस है जो आपके पैर को एक लचीली स्थिति में रखता है और रात भर प्लांटर फैसिआ और एच्लीस टेंडन को लंबा करता है। यह सुबह के दर्द और जकड़न को रोक सकता है।


आपके जूतों के लिए आर्च सपोर्ट लगाने की सलाह दी जा सकती है जिससे दर्द को कम करने में मदद मिलती है। जूतों का कास्ट आपके पैर को स्थिर कर सकता है और तनाव को कम कर सकता है।


सर्जरी (Surgery)

अन्य उपचार विकल्पों को आजमाने के बाद ही सर्जरी करवाने की सलाह दी जाती है। यह केवल उन मामलों में किया जाता है जिनमें दर्द गंभीर होता है या 6 से 12 महीने से अधिक समय तक रहता है।

बेहतर इलाज के लिए क्योर माई नी से संपर्क करें - Contact Us

एड़ी में दर्द सामान्य बात मानी तो जाती है और अधिकतर मौकों पर यह नुकसानदायक साबित नहीं होती, लेकिन फिर भी यदि आपको इस प्रकार का दर्द बार-बार या लगातार कुछ महीनों से हो रहा है, तो कृपया देर ना करें। अपनी एड़ी के दर्द या किसी अन्य समस्या के कारण के बारे में जानने के क्योर माई नी को संपर्क करें और परामर्श लें दुनिया के सर्वश्रेष्ठ सर्जन डॉ. डी. के. दास (Dr. D.K Das) से।