Home > Hindi Blogs > क्या L4- L5 स्लिप डिस्क ठीक हो सकता है? Cure My Knee
क्या L4- L5 स्लिप डिस्क ठीक हो सकता है? Cure My Knee

L4 L5 स्लिप डिस्क क्या होता है क्या L4 L5 कमर दर्द ठीक हो सकता है?


अगर आप सोच रहे है की L4 और L5 स्लिप डिस्क में होने वाला दर्द ठीक हो सकता है की नहीं, तो जी हाँ आपका दर्द ठीक हो सकता है। इसके लिए आपको अपने नज़दीकी ऑर्थोपेडिक सर्जन को दिखा कर के अपना जल्द से जल्द इलाज़ करवा लेना चाहिए।


L4 और L5 स्लिप डिस्क से होना वाला कमर दर्द एक आम परेशानी है जो किसी भी इंसान को हो सकती है। यह परेशानी समय रहते बढ़ती जाती है और कमर में सूजन पैदा करती है जिसके कारण आपको उठने, बैठने और सोने में दिक्कत महसूस होता है।


कमर के निचले हिस्से का दर्द आपके L4 और L5 के स्लिप डिस्क में परेशानी आने से हो सकता है। आज हम अपने इस ब्लॉग में आपको L4 और L5 में होने वाले दर्द के कारण और इनका इलाज बताएंगे।


अगर आप अपने कमर में दर्द महसूस कर रहे है तो आप क्योर माई नी (Cure My Knee) से टोल फ्री नो. 8800200400 से संपर्क कर सकते है। क्योर माई नी एक स्वास्थ्य सेवा कंपनी है जो हर चरण में इलाज और सहायता प्रदान करती है। हम आपको दिल्ली में बेस्ट कमर दर्द के डॉक्टर का परामर्श प्रदान करते हैं।


L4 और L5 स्लिप डिस्क क्या होता है?

हमारी रीड की हड्डी के निचले हिस्से में लंबर नाम के मलके या ब्लॉक्स होते है जिन्हें वर्टेब्रे (vertebrae) कहते है। हर दो मलको के बीच एक डिस्क होती है जो लचीली होती है और हमारे रीड की हड्डी को फ्लेक्सिबिलिटी (flexibility) प्रदान करती है।


लंबर रीड की हड्डी में 5 वर्टेब्रे होते है जिन्हे L1, L2, L3, L4 और L5 कहते है। L4 और L5 के बीच में पाई जाने वाली डिस्क को L4-L5 डिस्क कहते है। हमारे कमर की 50% मूवमेंट इस डिस्क के मदद से होती है।


यह डिस्क कुछ कारणों की वजह से वर्टेब्रे से बहार को आ जाती है या तो डिस्क में से लचीले पदार्थ उम्र के साथ सुख जाते है और नसों पर दबाव पड़ने लगता है जिसे हम स्लिप डिस्क कहते है।


Also Read:Ghutno Ka Doctor & Ghutno Ka Dard Ka ilaj

L4 और L5 स्लिप डिस्क में होने वाले दर्द के कारण क्या है?

L4 और L5 स्लिप डिस्क में दर्द कई कारणों की वजह से हो सकता है, जैसे की -

  • झुक कर लैपटॉप चलाना या पढ़ाई करना
  • अचानक झुकने, वजन उठाने या झटका लगने से
  • बहुत लंबे समय तक ड्राइविंग करने से
  • उम्र बढ़ने पर स्लिप डिस्क का लचीलापन कम होने के कारण
  • गिरने और फिसलने के कारण

L4 और L5 स्लिप डिस्क का इलाज़

आपका डॉक्टर आपकी शारीरिक जाँच और X-ray के बाद आपका इलाज बताएगा। कई बार X-ray से आपकी दिक्कत का पता लगाना मुश्किल हो जाता है तो आपका डॉक्टर आपको CT स्कैन, MRI या माइलोग्राफी कराने की सलाह देंगे जिससे आपके दर्द का असली कारण पता चल पाएगा।


स्लिप डिस्क की गंभीरता को देखते हुए आपका डॉक्टर कई तरीके के इलाज बताएगा, जिसमें से कुछ इलाज है -


  • दवा -

    आपका डॉक्टर आपको कुछ दर्द निवारक दवा बताएगा जिसकी मदद से आपके L1 और L2 में होने वाले दर्द को आराम मिलेगा। इन दवाओं से आपके कमर में होने वाले दर्द को काम तो किया जा सकता है पर डॉक्टर लम्बे समय तक दवा लेने का सुझाव नहीं देते है।


  • फिजिओथेरपी और व्यायाम -

    आपका डॉक्टर आपको कई तरह के व्यायाम बता सकते है जिनकी मदद से आपका दर्द कम हो सकता है। व्यायाम के साथ - साथ फिसिओथेरपी से आपके नस और मांसपेशियों को आराम मिल सकता है।


  • सर्जरी -

    जब आपके L4 और L5 स्लिप डिस्क में होने वाला दर्द दवा और फिजियोथेरेपी की मदद से ठीक नहीं होता है तो आपका डॉक्टर आपको सर्जरी की सलाह दे सकता है। सर्जरी के समय आपका डॉक्टर आपके L4 और L5 के बीच के स्लिप डिस्क को हटा देता है और दो वर्टेब्रे को आपस में स्क्रू के माध्यम से जोड़ देते है।


    आमतौर पर एक मरीज़ दवा और फिजियोथेरेपी की मदद से ठीक हो जाता है पर अगर आपका दर्द लम्बे समय से है या दवाओं से ठीक नहीं हो रहा है तब आपको सर्जरी करने की सलाह दी जा सकती है।


अगर आप बहुत लम्बे समय से कमर के दर्द से परेशान है तो हमें संपर्क करें और दिल्ली के सर्वश्रेष्ठ डॉक्टर से अपना इलाज करवाए।

आज ही संपर्क करें

L4 और L5 की समस्या में क्या करें और क्या ना करें?

L4 और L5 स्लिप डिस्क में होने वाले दर्द से जल्द ठीक होने के लिए आपको कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए। आपका डॉक्टर आपको अपने जीवन शैली में कुछ बदलाव करने को कहेंगे। इन बातों का खास कर के ध्यान रखें -


आपको क्या करना चाहिए -

  • नियमित रूप से रोज वॉक पर जाएं
  • सीढ़ियों से चढ़ते और उतरते वक्त सावधानी बरतें
  • कुर्सी पर बैठते वक्त अपने पोस्चर का ध्यान रखें
  • अपने वजन को नियंत्रण में रखें
  • सोने के लिए अच्छे गद्दे का इस्तेमाल करें

आपको क्या नहीं करना चाहिए -

  • कुर्सी पर झुक कर ना बैठे
  • हाई हील्स वाले सैंडल और जूते पहने से बचे
  • झटके से उठे और बैठे नहीं
  • उलटा लेट कर ना सोए
  • वजन उठाने वाले व्यायाम ज्यादा ना करें

इन कुछ बातों का ध्यान रख कर आप जल्द से जल्द ठीक हो सकते है। याद रखें हमेशा अपने ऑर्थोपेडिक डॉक्टर के संपर्क में रहे और कोई भी दिक्कत या परेशानी होने पर अपने डॉक्टर को जरूर बताए।


Also Read:Best Haddi Ka Doctor in Delhi NCR

Our Latest Post